पहले की महिला से मारपीट, फिर कुएं में पटका, वजह जान हो जाएंगे हैरान

नसीराबाद के पास झड़वासा गांव निवासी एक घायल महिला ने अस्पताल में पुलिस को बताया कि उसके साथ लकड़ी से मारपीट करके जान लेने के मकसद से उसे झडवासा स्थित फार्म हाउस (Farm House) के एक कुएं में पटक दिया. सदर पुलिस थाना और ग्रामवासियों की तत्परता से उसे तुरंत कुंए में से निकालकर बचा लिया गया.

नसीराबाद सदर पुलिस थानाधिकारी राजेश कुमार एवं सब इंस्पेक्टर (Sub Inspector) मुस्ताक हुसैन को अस्पताल में उपचाररत कंचन उर्फ आइशा ने पर्चा बयान में जेर इलाज मजरूबा आइशा उर्फ कंचन नाथ पत्नी स्वर्गीय जुम्मा खान ने दरियाप्त पर बताया कि 14 फरवरी की शाम लगभग 3 बजे पति जुम्मा खा के फार्म पर गई थी. मेवा उसके पति जुम्मा की पहले वाली पत्नी का पुत्र है. वहां, जाकर मेवा को कहा कि कमरे का ताला खोलने के लिए चाबी दे और उसके दोनों बच्चों को पास ला. मेवा ने कहा कि तू यहां से चली जा. तेरा यहां कोई नहीं है. उसे कहा कि तेरे पिता जुम्मा की पत्नी बनकर रह रही. उसी से दो बच्चे भी हुए हैं.

महिला को कुएं में यूं पटका
मेवा ने उसकी बहीन रुखसाना, नेराज, महमूद की मां नाथी, कमरुद्दीन की तीनों लड़कियां, कमरुद्दीन की पत्नी लाली, उमराव की पत्नी जनता को फार्म हाउस बुला लिया और उन्होंने कहा कि इसने जुम्मा को मारा है. यह कहते हुए लकड़ियों से मारपीट करने लगे, जिससे मारपीट में गंभीर चोटें आई. फार्म हाउस में खुदे हुए कुएं में पटक दिया. कुएं में पानी था, जिसके कारण तैर कर कुएं में लटकी हुई रस्सी को पकड़ लिया. तभी ग्रामीणों और पुलिस ने खाट पर लेटा कर उसे बाहर निकाल लिया. जान से मारने के लिए उसे कुंए में पटका गया. सदर पुलिस थाना ने आरोपियों के विरुद्ध धारा 143, 341, 323, 342, 307 भादस में मुकदमा दर्ज करके पुलिस कार्यवाही आरंभ कर दी.

यह थी पुरानी रंजिश
प्राप्त जानकारी के अनुसार झड़वासा निवासी महबूब पुत्र जुम्मा खान ने नसीराबाद सदर पुलिस थाना को रिपोर्ट दी थी कि 16 सितंबर की रात 11 बजे पोल्ट्री फार्म पर श्रीमती आइशा उर्फ कंचन नाथ एवं उसके पूर्व पति के पुत्र मुकेश, रामराज, प्रभु जोगी सहित दो अन्य व्यक्ति कमरे में सो रहे उसके पिता जुम्मा की लकड़ी और हथियारों से मारपीट करके हत्या (Murder) कर दी. सदर पुलिस थानाधिकारी राजेश कुमार ने अधीनस्थ अधिकारियों और पुलिसकर्मियों के साथ जांच कार्रवाई आरंभ कर दी थी. संभावित स्थानों पर दबिश देकर आरोपी रामराज पुत्र जगदीश और प्रभु पुत्र जगदीश को गिरफ्तार कर लिया गया था.

दूसरा विवाह बना कारण
आरोपियों से प्राथमिक पूछताछ में सामने आया कि मृतक जुम्मा खान की पत्नी आयशा उर्फ कंचन नाथ ने मृतक से 10-12 साल पहले दूसरा विवाह किया था. आयशा उर्फ कंचन का पूर्व में झड़वासा गांव में ससुराल था. आयशा उर्फ कंचन नाथ के पूर्व पति से 3 पुत्र मुकेश, रामराज और प्रभु जोगी है, जोकि आयशा से मिलने मृतक के पोल्ट्री फार्म पर आया करते थे. मृतक जुम्मा को आयशा के इन पुत्रों से मिलना अच्छा नहीं लगता था.

पत्नी और उसके बेटे के साथ दुर्व्यवहार
झडवासा गांव में 16 सितंबर की शाम को आयशा उर्फ कंचन नाथ के पूर्व पति का लड़का प्रभु जोगी अपनी मां आयशा से मिलने आया था. तभी जुम्मा घर आ गया और प्रभु को आयशा के पास देखा तो उसने पत्नी आयशा और आयशा के पुत्र प्रभु के साथ अभद्र व्यवहार किया, जिससे आहत होकर आयशा का पुत्र प्रभु घर गया और घर जाकर अपने भाई रामराज को अभद्र व्यवहार की बात बताई. दोनों भाइयों ने जुम्मा की हत्या करने के इरादे से पोल्ट्री फार्म पर पहुंच गए और जुम्मा के साथ लकड़ी और बसौली से मारपीट करके हत्या कर दी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.