सुहागरात पर पति ने रखी अजीब शर्त, पत्नी शर्त पूरी नहीं कर पाई तो पति ने भेजा तलाक का नोटिस

हर कोई चाहता है कि उसका होने वाला जीवनसाथी पढ़ा लिखा और सुन्दर हो। झारखंड में एक ऐसा मामला घटित हुआ है जिसमे एक शख्स ने नई नवेली दुल्हन को आईएएस बनने की सलाह दे डाली और जब दुल्हन दो सालों में आईएएस नहीं बन पायी तो उससे तलाक मांग लिया। आइये जानते हैं कि क्या है पूरा मामला।

झारखंड के पूर्वी सिंहभूम में पोटका थाना इलाके में एक एमबीए पति ने अपनी सुहागरात के समय नई नवेली दुल्हन पल्लवी मंडल के सामने आईएएस बनने की शर्त रख दी। वहीं जब पत्नी आईएएस नहीं बन पायी तो पति ने उसे तलाक का नोटिस भेज दिया। पति ने पत्नी को आईएएस बनने के लिए 3 साल का अल्टीमेटम भी दिया था। इस दौरान वह पत्नी से बात भी नहीं कर रहा था। इस जुनूनी पति ने जब 2 साल बाद पत्नी आईएएस नहीं बन पायी तो उसे तलाक का नोटिस भेज तलाक मांग लिया।

सुहागरात के दिन पति ने रखी अजीब शर्त

एमबीए पति का नाम जयमाल्य मंडल है। 18 जून 2018 को जयमाल्य की शादी पल्लवी मंडल से हुई थी। शादी के बाद सुहागरात की रात में जयमाल्य ने पल्लवी के सामने शर्त रखी कि वह दो साल के अंदर आईएएस बनके दिखाएगी नही तो वह तलाक ले लेगा।

पल्लवी ने बताया कि उसने पति की इस शर्त को पूरा करने के लिए पढ़ाई में जी-जान से लग गयी। लेकिन दो साल बाद भी वह आईएएस नही बन सकी। इस दौरान इन दो सालों में पति की पल्लवी से बात भी नहीं होती थी। वहीं जब दो साल पूरे हुए तो पति की तरफ से पल्लवी को तलाकनामा पहुंचा।

पत्नी पल्लवी पहुंची कोर्ट

जब पति ने पल्लवी को तलाकनामा भेजा तो वह परेशान होकर कोर्ट की शरण में पहुंची। पल्लवी ने बताया कि माँ-बाप की इज्जत और समाज के डर की वजह से वह अपने सास-ससुर और जेठ-जेठानी के जुल्मों को सहती रही। लेकिन जब चीजें पल्लवी के हाथों से बाहर हो गयी तो उसने कोर्ट में जाना उचित समझा। हालांकि पल्लवी के इन आरोपों को उसके ससुराल वालों और पति ने खारिज किया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पल्लवी का पति सरकारी बैंक में अस्सिटेंट ब्रांच मैनेजर के पद पर कार्यरत है। वह एमबीए में गोल्ड मेडिलिस्ट है। वह लखनऊ में रहता है और वह कभी कभार ही घर आता है।

शादी के 3 साल बाद भी नहीं मिल पाया है पत्नी का दर्जा

इस बारे में पल्लवी के पिता का कहना है कि उनके दामाद ने उनकी बेटी की जिंदगी खराब कर दी है। उनकी बेटी के शादी के 3 साल हो गए हैं लेकिन अभी भी उसे पत्नी का दर्जा नहीं मिला है। शादी में जो भी सामान दिया गया था वह अभी भी उनके घर पर ही पड़ा हुआ है। वहीं जब तलाक की खबर पल्लवी के पिता को पता चली तो वे बहुत परेशान हो गए। उनका कहना है कि वह चाहते हैं कि उनका दामाद और बेटी साथ में पति-पत्नी की तरह रहे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.