स्वाद बढ़ाने के चक्कर में रुमाली रोटी खाने वाले लोग जान लें इसके नुकसान

रुमाली रोटी खाने वाले जरा सावधान हो जाइए. सभी जानते हैं कि इस रोटी को बनाने के लिए मैदा का इस्तेमाल होता है. ज्यादातर लोग खाने का टेस्ट बढ़ाने के लिए रुमाली रोटी खाना शुरू कर देते हैं, लेकिन आपको बता दें कि यह हेल्थ के लिए ठीक नहीं है. माना जाता है कि मैदा से बनी चीजें हमारे पेट को लंबे समय तक भरा होने का अहसास करवाती हैं. मैदा में कैलोरी होती हैं. मैदा पचने के लिए शरीर में मौजूद न्यूट्रीएंट्स का इस्तेमाल करता है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बेंज़ोयल पेरोक्साइड, एक ब्लीचिंग एजेंट है, जिसका उपयोग करके, मैदे को सफेद रंग दिया जाता है. बेंज़ोयल पेरोक्साइड एक हानिकारक रसायन है, जो सेहत के लिए नुकसानदायक है.

गर्भवती महिलाओं के लिए नहीं है ठीक

माना जाता है कि मैदे का अधिक सेवन बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए ज्यादा हानिकारक हो सकता है. इसलिए ध्यान देना चाहिए मैदा से बनी रुमाली रोटी का कम इस्तेमाल किया जाए. इससे कब्ज की शिकायत भी बढ़ जाती है.

मैदा खाने से हड्डियां होती हैं कमजोर
मैदा को खाने से कई प्रकार के नुकसान होते हैं. सबसे पहला नुकसान होता है हड्डियों का कमजोर होना. क्योंकि जब मैदा को बनाया जाता है तो उसमें से प्रोटीन निकाल दिया जाता है. जिससे यह एसिडिक बन जाता है जो हड्डियों से कैल्‍शियम को खींचने और हड्डियों को कमजोर बनाने का काम कर सकता है.

शुरू हो जाता है डायबिटीज और कब्ज
इसके अलावा ज्यादा मैदा खाने से डायबिटीज और कब्ज की शिकायत शुरू हो जाती है. दरअसल. मैदा में बिल्कुल भी फाइबर नहीं पाया जाता, जिससे पाचन, पेट दर्द और कब्ज की समस्या हो सकती है.

(डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है. यह किसी भी तरह से किसी दवे या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता. ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें.)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.