जब नहीं मिला 500 का चेंज तो खरीद लिया लॉटरी टिकट, फिर कुछ ही घंटो बाद किस्मत ने खेला अजीब खेल

कब राजा से रंक बन जाए या रंक से राजा बन जाए कुछ कह नहीं सकते हालाँकि ये बात एक दम सच है जो इंसान मेहनत करता है उसका किस्मत हमेशा साथ देती है। लेकिन आज के समय में कब क्या हो जाए कुछ कह नहीं सकते। ये दुनिया बहुत बड़ी है यहाँ कब क्या हो जाए कुछ कह नहीं सकते जैसे की हर इंसान के मन में बड़ा आदमी बनने का सपना होता है लेकिन कोई किस्मत वाला ही होता है जिसकी किस्मत अचानक से मालामाल होजाए।

लॉटरी एक मात्र ऐसा तरीका है जिसकी मदद से कोई भी इंसान रातोरात अपनी किस्मत चमका सकते है। जी हाँ आज एक ऐसा ही मामला हम आपके सामने बताने जा रहे है जिसमे एक एक व्यक्ति ने पैसे खुल्ले न होने के कारण लॉटरी खरीदी और उनकी किस्मत ही बदल गई। आइये जानिए क्या है मामला।

दरअसल मामला सामने आया है केरल के कोट्टायम में रहने वाले 77 वर्षीय सदानंदन ओलीपराम्बिल का उनके मुताबिक वह एक दिन सुबह तड़के अपने घर से सब्जी लाने के लिए निकले थे वह घर से 500 रुपये लेकर निकली थी जैसी ही उन्होंने सब्जी ली उसके बाद उन्होंने दुकानदार को 500 का नोट दिया। दुकानदार के पास पैसे चेंज न होने के कारण सदानंदन ने बगल से एक लॉटरी का टिकट खरीद कर 500 रुपए के खुल्ले करा लिए। पैसे खुल्ले कराकर वह वापिस घर चले गए इसके कुछ देर बाद उन्हें पता चला कि जो लॉटरी का टिकट उन्होंने खरीदा है,उसपर करोड़ों की लॉटरी लगी है। देखते ही देखते सदानंदन चंद पलों में ही 12 करोड़ रुपए के मालिक बन गए हैं।

जैसे ही उनके रिश्तेदारों और पड़ोसियों को इस बात का पता चला कि उन्हें लॉटरी निकली है तो सब उन्हें बधाई देने के लिए उनके घर आने लगे वैसे तो सदानंदन पिछले कई सालों से लॉटरी की टिकट खरीदते थे, लेकिन ये पहली बार हुआ जब उन्होंने बंपर इनाम जीता है। सदानंदन के अनुसार, रोज के तरह जब वो बाजार से सब्जी लेने के लिए घर से निकले तो उन्हें रुपए खुल्ले करवाने के लिए ये लॉटरी टिकट खरीदना पड़ा। जब दोपहर में उन्हें पता चला कि टिकट पर इनाम निकला है तो वो काफी हैरान रह गए। वो काफी खुश हैं कि एक दिन में करोड़पति बन गए हैं।

जानकारी के मुताबिक हम आपको बता दे कि सदानंदन पेशे से एक पेंटर हैं। इनको भी कोरोना महामारी में काम मिलना बिल्कुल बंद हो चुका था। घर का खर्च जैसे-तैसे चल रहा था। अब जब उनकी लॉटरी लगी है तो उनका कहना है कि वो इन रुपयों का इस्तेमाल एक अच्छा सा घर बनाने के लिए करेंगे जिससे मेरे बच्चों को रहने के लिए एक अच्छा सा घर मिल सके।और वह आगे अपनी ज़िन्दगी अच्छे से व्यतीत कर सके।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.